SBI Success Story In Hindi | एसबीआई सफ़लता की कहानी

नमस्कार साथियों आज के इस पोस्ट में हम पब्लिक सेक्टर के सबसे बड़े बैंक SBI BANK के बारें में जानेंगे जिसमें बैंक की स्थापना से लेकर आज के तक इस सफर को विस्तार से जानने का प्रयास करेंगे और यह बैंक आज भारत का सबसे बड़ा बैंक कैसे बन गया ? इसकों भी समझेंगे कहने का तात्पर्य है SBI बैंक की सफलता की कहानी जानेंगे।

क्या आपका खाता भी SBI Bank में है ?

स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया:

स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया यानी भारत के आम आदमी का बैंक। देश में 12 सरकारी और 22 प्राइवेट बैंक मौजूद हैं, लेकिन विष्वसनीय बैंकों की सूची में SBI का नाम टाॅप पर आता है। बैंक के पास 40 लाख करोड़ रूपए तो खाताधारकों का डिपाॅजिट ही जमा है। भारतीय बैंकिंग सेक्टर में इसकी 25% की हिस्सेदारी है। मार्केट कैप में एसबीआई भारत की 8वीं और दुनिया की 236वीं सबसे बड़ी कंपनी है। बैंक का लोगों ही इसकी आम आदमी वाली छवि को दर्शाता है। दरअसल एसबीआई के नीले रंग के लोगो में जो बीच में सफेद कट बना है, वो आम आदमी का ही प्रतीक है। इसे 1971 में नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ डिजाइन अहमदाबाद ने बनाया था। भले ही आज एसबीआई भारतीयता का प्रतीक हो लेकिन इसकी शुरूआत अंग्रेजों द्वारा की गई थी।

स्थापना1955
बाजार5.21 लाख करोड़ से अधिक का।

शुरूआती सफर:

आधिकारिक तौर पर एसबीआई 1955 में स्थापित हुआ था। लेकिन इसकी नींव 1806 में ही रख दी गई थी। 2 जून 1806 को ईस्ट इंडिया कंपनी, यूरोपीय व्यापारियों और 27 भारतीयों ने मिलकर बैंक ऑफ़ कलकत्ता की शुरूआत की थी। उस समय इस बैंक के पास कुल केपिटल 50 लाख रूपए था। बाद में इसका नाम बैंक ऑफ़ बंगाल रख दिया था। बैंक चलाने वाले ज्यादातर डाॅयरेक्टर्स अंग्रेज थे, महाराजा सुखमय राॅय चौधरी बैंक के अकेले भारतीय निदेशक थे। इसके बाद ईस्ट इंडिया कंपनी ने 1840 में बैंक ऑफ़ बाॅम्बे और 1842 में बैंक ऑफ़ मद्रास को गठित किया। बिजनेस स्टैंडर्ड की रिपोर्ट के अनुसार बैंक ऑफ़ बंगाल ने 1884 में अपना पहला सेविंग डिपाॅजिट लिया और 4 फीसदी सालाना का रिटर्न दिया।

मर्जर:

1921 में ईस्ट इंडिया कंपनी के तीनों प्रेसिडेंसी बैंकों को विलय हो गया था। जिसे इंपीरियल बैंक ऑफ़ इंडिया के नाम से जाना गयां 1943 के दौरान JRD टाटा भी इंपीरियल बैंक के बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर्स में शामिल हुआ करते थे। उस समय बैंक के सभी अधिकारियों में से 50% की भर्ती यूके या यूरोप से की जाती थी। इसके अलावा भारतीयों को बैंक में सभी उच्च पदों से बाहर रखा गया थां टाटा इस नीति के खिलाफ थे और इसे भारतीयों का अपमान मानते थे। जेआरडी टाटा ने बैंक के मेनेजिंग गवर्नर सर विलियम लैमंड से कर्मचारियों का भारतीयकरण करने का आह्वान किया थां जब ऐसा नहीं हुआ तो टाटा ने इंपीरियल बैंक ऑफ़ इंडिया के बोर्ड से इस्तीफा दे दिया। उस समय का इंपीरियल बैंक बाद में एसबीआई बना।

सफलता:

1 जुलाई 1955 को एसबीआई की स्थापना हुई, इसके पहले चेयरमैन देश के वित्त मंत्री डाॅ. जाॅन मथाई बने थे। शुरूआत में आरबीआई के पास बैंक का 60% हिस्सा था, 2007 में आरबीआई ने अपना पूरा स्टेक्स भारत सरकार को सौंप दिया था। अक्टूबर 1959 को स्टेट बैंक ऑफ़ हैदराबाद के साथ SBI का मर्जर 7 बैकों के साथ हुआ थ जिसमें स्टेट ऑफ़ बीकानेर, जयपुर, इंदौर, पटियाला, त्रावणकोर, मैसूर और सौराष्ट्र षामिल थे। 2013 में बैंक को अरूंधती भट्टाचार्य के रूप में पहली महिला चेयरमैन मिली। 2020 से दिनेश कुमार खारा बैंक का नेतृत्व कर रहे है। आज एसबीआई की 22 हजार से ज्यादा ब्रांच मौजूद है और 31 विदेशी देशो में बैंक की उपस्थिति है।


SBI के रोचक आंकड़े:

  • 22 हजार से ज्यादा भारत में ब्रांच मौजूद है।
  • 31 देशो में एसबीआई का बिजनेस।
  • 45 करोड़ से अधिक कस्टमर्स को सेवाऐं देता है।
  • 25% मार्केट शेयर के साथ भारत का सबसे ज्यादा ग्राहक
  • 68% प्राॅफिट इस वित्तिय वर्ष की तीसरी तिमाही में दर्ज किया।

रोचक तथ्य:

जब बैंक ऑफ़ बंगाल की शुरूआत हुई थी तो इसमें देश के प्रतिष्ठित लोगों के अकाउंट ही हुआ करते थें। राजनेता दादाभाई नौरोजी, वैज्ञानिक जगदीशचंद्र बसु से लेकर रवींद्रनाथ टैगोर तक के बैंक में खाते थे। 1817 में रवींद्रनाथ टैगोर के दादा प्रिंस द्वारकानाथ टैगोर ने बैंक ऑफ़ बंगाल से 60 हजार रूपए उधार लिए थे। एसबीआई के म्यूजियम भी बने है जो पाकिस्तान में भी स्थित हैं कराची में म्यूजियम को 2004 में स्थापित किया गया था। वहीं कोलकाता में स्टेट बैंक आर्काइव्स एंड म्यूजियम की शुरूआत 2007 को हुई थी।

FAQs :

SBI की स्थापना कब हुई ?
आधिकारिक तौर पर SBI की स्थापना 1 जुलाई 1955 में हुई। लेकिन इसकी नींव 2 जून 1806 को ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा रखी गई थी।

SBI Bank के प्रथम चेयरमैन कौन थे ?
डाॅ. जाॅन मथाई

SBI Bank का लोगों किसने बनाया ?
1971 में नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ डिजाइन अहमदाबाद ने।

SBI BANK की भारत में ब्रांच कितनी है ?
22000+

SBI Customer Number

1800 1234

Leave a Comment

Gadar 2 Box Office Collection All Time Blockbuster JAWAN Trailer Review